Chull News
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ सुल्तानपुर

सुल्तानपुर में बेसिक शिक्षा अधिकारी का बड़ा कारनामा। विभाग में है नियमित बाबुओं की भरमार, लेकिन संविदाकर्मी बाबू को ही सौंप दिया बेसिक शिक्षा परिषदीय का कार्यभार।

*पिस्टल वाले बाबू पर बेसिक शिक्षा अधिकारी का बड़ा बयान*

परियोजना लिपिक व डी सी दोनों है संविदा कर्मी , दिया जा सकता है परियोजना लिपिक को महत्वपूर्ण विभाग का चार्ज

आप भी अपने जनपद सहित अन्य जनपदों में बहुत सारे बी एस ए के कार्यकाल को देखा होगा लेकिन सुल्तानपुर में तैनात बी एस ए दीपिका चतुर्वेदी जैसा साहिबा बहुत कम देखा होगा*, साहिबा को संविदा कर्मी लिपिक व डी सी एव खंड शिक्षा अधिकारी के पदों में फर्क ही नही लगता , साहिबा द्वारा एक मामूली से संविदा कर्मी लिपिक को समेकित शिक्षा , सामुदायिक शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण विभाग को जिसमे विकलांग बच्चों के पठनपाठन सहित विकलांग बच्चों के उपकरण की खरीद जैसे तमाम मद आते है , इस महत्वपूर्ण विभाग को साहिबा द्वारा एक मामूली से डाक डिस्पेच बाबू काम सम्भाल रहा है। ऐसा नही है कि विभाग में परमानेंट बाबुओं की कमी है। विभाग में बाबू भरे पड़े हैं, लेकिन मैडम साहिबा को किसी पर भरोसा ही नही है। लेकिन संविदाकर्मी पर भरोसा ऐसा की तमाम महत्वपूर्ण पटल की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। *वही बालिका शिक्षा विभाग की बात करे तो इस विभाग में कस्तूरबा गांधी विद्यालय आते है जिसके रख रखाव और अच्छे पठन पाठन की व्यवस्था बनी रहे जिसके चलते जिलाधिकारी रवीश गुप्ता और सी डी ओ कौशिक साहब हमेशा निगरानी करते है* जिसमें खाद्य सामग्री से लेकर बहुत सारे व्यस्थाओ की खरीद की जाती है जिसकी जिम्मेदारी बी एस ए साहिबा ने संविदा बाबू उपेंद्र सिंह को दे रक्खा है वही बात करे परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों की निलंबन व बहाली का कार्य जो किसी बेसिक के वरिष्ठ बाबू को देना चाहिये लेकिन बताया जाता है कि साहिबा ने इस विभाग का भी चार्ज संविदा वाले पिस्टल बाबू को दे रक्खा है ।

*यही नही इस संविदा कर्मी द्वारा चाहे विभाग के वाहन के टेंडर का मामला हो , खाद्य सामग्री का टेंडर जैसे बड़े बड़े टेंडर का कार्य भी इसी संविदा कर्मी द्वारा कराया जाता है*।

वही जब इस मामले में पूर्व कई बेसिक शिक्षा अधिकारियों से इस मामले में बात की गई तो उन्होंने कहा कि ऐसे महत्वपूर्ण विभाग का चार्ज परियोजना के लिपिक को देना नियम के विरुद्ध है , *उन्होंने यहाँ तक बताया कि यह महत्वपूर्ण विभाग है जो फाइनेशियल विभाग है सही माने में ऐसे विभागों के चार्ज नगर के खंड शिक्षा अधिकारी को देना चाहिये*


बहरहाल बी एस ए दीपिका चतुर्वेदी इस मामले में गोल मोल जवाब देती नजर आ रही है , पहले तो उनका जवाब है कि डी सी भी संविदा कर्मचारी है तो संविदा लिपिक को दिया गया क्या दिक्कत है , फिर जवाब रहा कोई चार्ज संविदा लिपिक के पास नही है ।
*बहरहाल बी एस एस दीपिका चतुर्वेदी इस मामले पर भले ही पर्दा डालने की कोशिश करे लेकिन अगर जिला प्रशासन इस सम्बंध में समिति गठित कर ठेकों से लेकर चार्ज तक कि जांच निष्पक्ष तरीके से कराये तो इस संविदा कर्मी के भ्र्ष्टाचार की पोल खुलने के साथ बड़े घोटाले का मामला सामने आ सकता है* ।

Related posts

खराब मौसम के बाद भी धू धू कर जल उठा रावण। ये है अवध क्षेत्र के कुशभवनपुर की महिमा।

Chull News

रोटेरियन महिलाओं ने रक्तदान कर किया रोटरी नवीन सत्र 2022 – 23 का स्वागत

Chull News

बहुचर्चित संत ज्ञानेश्वर हत्याकांड का मामला पहुँचा सुप्रीम कोर्ट,पूर्व विधायक समेत अन्य के खिलाफ नोटिस जारी। दोषमुक्ति के आदेश को देश की सबसे बड़ी अदालत में संत ज्ञानेश्वर के भाई इंद्रदेव ने दी है चुनौती,तीन न्यायमूर्तियों की बेंच ने जारी की नोटिस। सीजेएम किरन गौड़ ने डीएम,एसपी व एसओ को नोटिस तामील कराने का दिया आदेश,23 अगस्त को होगी सुनवाई। वर्ष 2006 में इलाहाबाद जिले के हड़िया थाना अंतर्गत हुई थी संत ज्ञानेश्वर समेत आठ की गोलियों से भूनकर हत्या

Chull News

Leave a Comment